India Vs England Day 5 Highlight, India Tour Of England, 2021

India Won 2nd Test Match By 151 Run - भारत ने जीता दूसरा टेस्ट मैच लोड्स पर रचा इतिहास। भारतीय बॉलरो ने बैटिंग ओर बॉलिंग में जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए इंग्लैंड को दी मात। जीत के लिए मीले 272 रनो का पीछा कर रही इंग्लैंड सिर्फ 120 रन पर सिमटी। मोहम्मद शमी ओर जसप्रीत बुमराह के बीच हुई रिकॉर्ड तोड़ पार्टनरशिप। मोहम्मद शमी ने नाबाद 56 रन ओर जसप्रीत बुमराह ने नाबाद 34 रनो की पारी खेली। मोहम्मद  सिराज ने मैच में 8, इशांत शर्मा ने 5, मोहम्मद शमी ओर जसप्रीत बुमराह ने 3-3 विकेट अपने नाम किये। भारत 5 टेस्ट मैच की सीरीज में 1-0 से आगे।

भारत और इंग्लैंड के बीच लोड्स के ऐतिहासिक मैदान पर खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में भारत ने शानदार 151 रन से जीत हासिल की है। पाचवा दिन दिन शुरू होने से पहले किसी ने नही सोचा था कि भारत यह मैच जीत सकता है। इस मैच पर पुरी तरह से इंग्लैंड की पकड़ बनी हुई थी इंग्लैंड इस मैच को कदापि हार नही सकता था ज्यादा से ज्यादा मैच ड्रॉ होने की संभावना थी। पाचवा दिन शुरू होने पर भारत के पास 154 रनो की बढ़त हासिल थी और 4 विकेट हाथ मे थे। क्रीज पर ऋषभ पंत 14 रन ओर इशांत शर्मा 4 रन बनाकर खेल रहे थे। भारतीय टीम के किए ऋषभ पंत महत्वपूर्ण खिलाडी थे जबतक वह क्रीज पर ठहरे रहते तबतक भारत को हराना नामुनकिन था। ऋषभ पंत ने अच्छी शुरुआत भी की एक दो अच्छे शॉट भी खेले लेकिन अपने स्कोर में 8 रन जोड़कर ओली रॉबिन्सन का शिकार बने। इसके बाद सभी को ऐसा लगने लगा कि अब भारत यहा से 20-25 रन ओर बनाकर या तो उससे भी पहले ऑल आउट हो जाएगा। क्योकि ऋषभ ओत के आउट होने के बाद सभी फ़ास्ट बॉलर ही बैटिंग में बचे हुए थे।


लेकिन फिर यहां से शुरू हुआ एक नया गेम ओर भारतीय बॉलरो ने दिखाया कि हम सिर्फ बॉलिंग ही नही करना जानते हम बैटिंग भी कर सकते है। इशांत शर्मा ने 16 रनो का योगदान दिया ओर आउट हुए लेकिन फिर मोहम्मद शमी ओर जसप्रीत बुमराह ने क्या शानदार बैटिंग की जसप्रीत बुमराह के आने के बाद इंग्लैंड ने बदला लेने के लिए बाउंसर पर बाउंसर डाले क्योकि बुमराह ने भी जेम्स एंडरसन को बाउंसर डाले थे। लेकिन मोहम्मद शमी ओर जसप्रीत बुमराह ने अपना धैर्य दिखाया और अच्छे क्रिकेटिंग शॉट खेले। स्ट्रेट ड्राइव, कवर ड्राइव ओर कदमो का इस्तेमाल भी किया। दोनो ने मिलकर ऐतिहासिक 89 रनो की नाबाद पार्टनरशिप की ओर भारत को हार के मुह से निकाल कर जीत की ओर अग्रसर कर दिया। इस दौरान मोहम्मद शमी ने अपने करियर का दूसरा अर्धशतक लगाया और अपना बेस्ट स्कोर भी बनाया। वही जसप्रीत बुमराह ने भी अपना बेस्ट स्कोर बनाया।


भारत ने टी ब्रेक के बाद एक दो ओवर खेलकर 298 रन पर अपनी पारी घोसित की ओर इंग्लैंड को जीत के लिए 272 रनो का लक्ष्य दिया। जब भारत बॉलिंग करने के लिए मैदान पर उतरा तब भारत को जीत के लिए 60 ओवर में 10 विकेट चाहिए थे और इंग्लैंड को जीत के लिए 272 रन की जरूरत थी। इंग्लैंड के लिए 60 ओवर में 272 रन बनानां नामुनकिन था इस लिए वह अब इस मैच को ड्रॉ कराने के लिए मैदान पर उतरा लेकिन भारतीय कप्तान विराट कोहली ने उन्ही दो बॉलरो से शुरुआत की जिन्होंने अच्छी बैटिंग की थी। जसप्रीत बुमराह ने पहले ही ओवर में रोरी बर्न्स को 0 पर चलता किया इसके बाद दूसरी ओवर मोहम्मद शमी से डलवाई गई और मोहम्मद ने भी डॉम सिबली को 0 रन पर चलता किया। भारत को जैसी शुरुआत की जरूरत थी वैसी ही शुरुआत मिल गई। इंग्लैंड अब पूरी तरह से बैक फुट आगया था। इसके बाद इशांत शर्मा ने हसीब हमीद ओर जो रुट की पार्टनरशिप को तोड़ा इसके बाद बाद फिरसे जोनी बैरस्तो ओर जो रुट के बीच बन रही पार्टनरशिप को तोड़ा ओर दूसरे सेशन में भारत ने 4 विकेट जटके।


तीसरे सेशन में भारत को जीत के लिए 6 विकेट की जरूरत थी। जो रुट नाबाद खड़े थे भारत की जीत ओर ड्रॉ के बीच जो रुट खड़े थे। भारत को जीत के लिए जो रुट का विकेट चटकाना बहोत जरूरी था। तभी विराट कोहली ने अपने सबसे बेस्ट बॉलर जसप्रीत बुमराह के हाथ मे बॉल थमाई ओर जसप्रीत बुमराह की Out Side Of Stump की बॉल का उनके पास कोई जवाब नही था उनके बैट का बाहरी किनारा लेकर बॉल सीधा विराट कोहली के हाथ मे गया ओर जो रुट का महत्वपूर्ण विकेट भारत को मिल गया। इसके बाद जोश बटलर ओर मोइन अली के बीच एक पार्टनरशिप बनी थी लेकिन मोहम्मद सिराज ने फिरसे दो बॉल पर दो विकेट निकाल कर भारत को वापसी कराई। फिर जोश बटलर ओर ओली रोबिंसन्स के बीच एक ओर पार्टनरशिप बनी जोकि इंग्लैंड को तेजी से ड्रॉ की ओर ले जा रही थी। लेकिन एक बार फिर जसप्रीत बुमराह ने अपना शातिर दिमाग चलाया ओर Round The Wicket जाकर ओली रोबिंसन्स को पहले एक करारा बाउंसर डाला और फिर इसके बाद एक स्लोअर फुल लेंथ बॉल फेका ओर रोबिंसन्स इसे मिस कर गए और LBW हो गए। अम्पायर ने नॉट आउट करार दिया था लेकिन विराट कोहली ने DRS लिया और अम्पायर को अपना फैसला बदलना पड़ा ओर भारत को आठवा विकेट मिला। इसके बाद ज्यादा देर तक इंग्लिश बैट्समैन क्रीज पर नही टिक पाये ओर मोहम्मद सिराज ने फिर से एक ही ओवर में 2 विकेट निकाल कर भारत को 151 रन से एक ऐतिहासिक जीत दिलाई।


मोहम्मद शमी ने लगाया करियर का दूसरा अर्धशतक


भारत जब संकट में था तब मोहम्मद शमी ने कमाल की बैटिंग की ओर अपने करियर का दूसरा अर्धशतक लगाया। मोहम्मद शमी ने 70 बॉल पर 6 चौके और 1 छक्के की मदद से नाबाद 56 रनो की पारी खेली। यह अर्धशतक उनके करियर का दूसरा अर्धशतक है इससे पहले 2014 में भी इंग्लैंड के खिलाफ ही अपना पहला अर्धशतक बनाया था।


मोहम्मद शमी ओर जसप्रीत बुमराह ने रचा इतिहास


मोहम्मद शमी ओर जसप्रीत बुमराह ने लोड्स के मैदान पर रच दिया है इतिहास। भारत जब मुसीबत में फसा था तब मोहम्मद शमी ओर जसप्रीत बुमराह ने 9वे विकेट के लिए 89 रनो की नाबाद पार्टनरशिप की ओर यह पार्टनरशिप ऐतिहासिक बन गयी। भारत की यह 89 रनो की पार्टनरशिप 9वे विकेट के लिए सबसे बड़ी पार्टनरशिप है। इससे पहले यह रिकॉर्ड कपिल देव और मदनलाल के नाम था उन्होंने सन 1982 में 9वे विकेट के लिए 66 रनो की पार्टनरशिप की थी।


मार्क वुड ने 3 ओर ओली रोबिंसन्स ओर मोइन अली ने जटके 2-2 विकेट


इंग्लैंड के मार्क वुड ने 3 विकेट जटके उन्होंने पहली पारी के शतकवीर के एल राहुल को 6 रन पर, रोहित शर्मा को 20 रन पर ओर चेतेश्वर पुजारा को 45 रन पर आउट किया। ओली रोबिंसन्स ने 2 विकेट लिए उन्होंने ऋषभ पंत को 22 रन पर ओर इशांत शर्मा को 16 रन पर अपना शिकार बनाया। मोईन अली ने भी 2 विकेट अपने नाम किये उन्होंने अजिंक्य रहाणे को 61 रन पर ओर रविंद्र जडेजा को 3 रन पर आउट किया।


भारत ने 298 रन पर की पारी घोसित


भारत ने पहली पारी में 364 रन बनाए थे जिसके जवाब में इंग्लैंड ने अपनि पहली पारी में 391 रन बनाए ओर 27 रनो की बढ़त हासिल की। भारत ने तीसरी पारी में ईट का जवाब पत्थर से देते हुए अपनी दूसरी पारी में 8 विकेट के नुकसान पर 298 रन बनाए और अपनी पारी घोसित की। इसमे पुजारा का 45, रहाणे का 61, मोहम्मद शमी का 56 ओर जसप्रीत बुमराह का 34 रनो का योगदान रहा। भारत की पारी डिक्लेर होने के बाद इंग्लैंड को जीत के लिए 272 रनो का लक्ष्य मिला जिसके जवाब में इंग्लैंड 120 रन पर ऑल आउट हो गया।


इंग्लैंड की दूसरी पारी 120 रन पर सिमटी


इंग्लैंड को जीत के लिए 272 रनो का लक्ष्य मिला था जिसको आखरी दिन वो भी आखरी दो सेशन में हासिल करना नामुनकिन था। इस वजह से उन्होंने मैच को ड्रॉ करवाने का सोचा। वही भारतीय टीम का आत्मविश्वास कही ऊपर था क्योंकि मोहम्मद शमी ओर जसप्रीत बुमराह ने बढ़िया बैटिंग की थी। और भारत ने सकारात्मक सोच के साथ शुरूआत की ओर इंग्लैंड को शुरुआती जटके दिए इसके बाद बीच बीच मे कहि पर पार्टनरशिप बनती रही लेकिन भारत के बॉलरो ने हार नही मानी और 52 ओवर के अंदर पूरी इंग्लैंड टीम को 120 रन पर सिमट दिया। इंग्लैंड के लिए सिर्फ 3 बैट्समैनों ने दहाई का आंकड़ा छुआ। जो रुट ने सबसे ज्यादा 33, जोश बटलर ने 25 ओर मोइन अली ने 13 रन बनाए।


भारतीय फ़ास्ट बॉलर का रहा दबदबा


भारत के लिए दूसरी पारी में मोहम्मद सिराज ने सबसे ज्यादा 4 विकेट किए उन्होंने मोइन अली, सेम करन, जोश बटलर ओर जेम्स एंडरसन को आउट किया ओर पहली पारी में भी 4 विकेट लिए थे इस तरह मैच में कुल 8 विकेट अपने नाम किए। जसप्रीत बुमराह ने इस पारी में रोरी बर्न्स, जो रुट ओर रोबिंसन्स को आउट करके तीन विकेट अपने नाम किए पहली पारी में उनको एक भी विकेट नही मिला था। इशांत शर्मा ने हसीब हमीद ओर जोनि बैरस्तो को आउट करके दो विकेट लिए पहली पारी मेंभी 3 विकेट चटका चुके थे। मोहम्मद शमी ने दूसरी पारी में 1 ओर पहली पारी में 2 विकेट चटकाए थे।


के एल राहुल बने मैन ऑफ द मैच


पहली पारी में 127 रनो की शतकीय पारी खेलने वाले के एल राहुल बने मैन ऑफ द मैच। राहुल ने पहली पारी में 250 बॉल पर 12 चौके और 1 छक्के की मदद 127 रनो की पारी खेली थी उनकी इस पारी के बदौलत भारत ने पहली पारी में 364 रन बनाए थे। यह उनके करियर का छठा शतक था।


King Pair का शिकार बने सेम करन


इंग्लैंड के ऑल राउंडर सेम करन इस मैच में King Pair का शिकार बने। King Pair का मतलब यह है कि जोभी बैट्समैन टेस्ट मैच की पहली और दूसरी दोनो ही पारी में Golden Duck पर आउट हो जाये तो इसे King Pair बोलते है। सेम करन के साथ भी ऐसा ही हुआ पहली पारी में वह पहली ही बॉल पर इशांत शर्मा का शिकार बने थे और दूसरी पारी में पहली ही बॉल पर मोहम्मद सिराज का शिकार बने।


पांच मैचों की इस सीरीज में भारत ने 1-0 से बढ़त बनाली है। पहला टेस्ट जोकि भारत जीत सकता था वह बारिश की वजह से ड्रॉ रहा था। लेकिन दूसरे मैच को भारत ने जीतकर 1-0 की बढ़त बनाली है। अब तीसरा टेस्ट मैच 25 अगस्त से हैडिंगली में खेला जाना है। भारतीय टीम वह मैच भी जीतकर सीरीज में अजेय बढ़त बनानां चाहेंगी ओर वही इंग्लैंड की टीम वह मैच जीतकर सीरीज में वापसी करना चाहेंगी।